Is Hydrocele or Varicoceles allowed in Defence – Get full information

31 Views

Is Hydrocele or Varicoceles allowed in Defence:- दोस्तों, किसी भी परीक्षा में यदि आप चयनित होते हैं, तो आपको शारीरिक और मानसिक परीक्षण के  अतिरिक्त चिकित्सीय परीक्षण में भी बेहतर प्रदर्शन करना जरूरी है| इसके लिए आपको शारीरिक रूप से स्वस्थ होना बेहद जरूरी है| आज के लेख में हम आपको यह जानकारी देंगे कि यदि आप डिफेंस की परीक्षा में चिकित्सीय परीक्षण के दौर से गुजर रहे हैं तब आपको कौन-कौन से टेस्ट होते हैं| इनके विषय में विस्तार पूर्वक जानकारी देंगे| आइये शुरू करते हैं  और एक ऐसे ही रोग के विषय में जानकारी देंगे जो सामान्यता उम्मीदवारों को परेशान करती है| आज के लेख में हम Hydrocele or Varicoceles के विषय में जानकारी देंगे| 

Is Hydrocele or Varicoceles allowed in Defence

Hydrocele or Varicoceles क्या है? और यह कैसे होता है और क्या  किसी उम्मीदवार में यदि यह बीमारी उपस्थित है वह चिकित्सीय परीक्षण के दौरान बाहर हो सकता है क्या?  आज हम इन सभी विषयों पर चर्चा करने जा रहे हैं| इस महत्वपूर्ण लेख अवश्य ही पूरा पढ़ें|  जिसके पश्चात आप हाइड्रोसील से जुड़ी किसी भी प्रकार की जानकारी से वंचित नहीं होंगे|

हाइड्रोसील or Varicoceles, पुरुष के वृषण (Testicle) और स्क्रोटम ( अंडकोश की थैली) की नासो से जुडी बिमारी हैं। किसी कारणवश जब स्क्रोटम ( अंडकोश की थैली) नासो में सूजन आ जाती है तब हाइड्रोसील or Varicoceles की समस्या पैदा हो जाती है। इस समस्या से पीढित लोगों को कभी अचानक भयानक दर्द (scrotal pain) तथा कभी संतानहीनता (Male Infertility) की परेशानी आ जाती है। Hydrocele or Varicoceles की वजह से कुछ युवा युवक अपनी Defence शारीरिक परीक्षा में खारिज हो जाते हैं।

Hydrocele or Varicoceles का शिकार किस उम्र के पुरुष बनते हैं ?

आमतौर पर 15 वर्ष से 40 वर्ष की आयु के बीच पुरुष हाइड्रोसील or Varicoceles का शिकार बनते हैं। Hydrocele or Varicoceles वृषण (Testicle) और स्क्रोटम ( अंडकोश की थैली) की नसों में आमतौर पर वॉल्व होते हैं जो blood को Testicle तथा secrotome से heart की ओर ले जाते हैं। जब ये वॉल्व किसी कारण काम करना बंद कर देते हैं, तब स्क्रोटम ( अंडकोश की थैली) का रक्त एक ही स्थान पर जमा हो जाता है| जिससे स्क्रोटम ( अंडकोश की थैली) में मौजूद वृषण (Testicle) के आस-पास की नसें फूल जाती हैं और हाइड्रोसील or Varicoceles की समस्या पैदा कर देते है।

इस से परेशान लोगों में कुछ समय बाद शुक्राणु का बनना भी कम हो जाता है और शुक्राणु की गुणवत्ता में भी गिरावट आती है। कई अध्ययनों के बाद पता चला है कि हाइड्रोसील or Varicoceles का इलाज होने के बाद 90 से 100 % तक मरीजों को दर्द से राहत मिलती है ओर 50 से 70 % तक मरीजों में वीर्य बनने की प्रक्रिया पुनः शुरू हो जाती है।

Hydrocele or Varicoceles के लक्षण

महत्वपूर्ण बात यह है कि हाइड्रोसील or Varicoceles के लक्षण किसी व्यक्ति की उम्र और पेशे के अनुसार अलग-अलग दिखाई दे सकते हैं। कभी -कभी Hydrocele or Varicoceles के मरीज को जरा सी भी तकलीफ उत्पन्न नही होती| जबकि किसी को इतना अधिक दर्द होता है कि मरीज खड़ा भी नहीं रह पाता। कई बार अधिक वजन वाला कोई सामान उठाने पर हाइड्रोसिल के लक्षण उभर आते हैं। युवा उम्मीदवार आमतौर पर कुछ भारी काम, दौड़ने, जिम, स्क्वैश, व्यायाम, या लंबी यात्रा के बाद अपने अंडकोश में दर्द की शिकायत करते है। काफी जवान बच्चे, मिलिट्री सर्विस की फिजिकल टेस्ट मैं हाइड्रोसील or Varicoceles की बीमारी के कारण बाहर कर दिए जाते है और उनकी सेना मैं भर्ती होने की इच्छा समाप्त हो जाती है।

Defence Pre Medical Test By MKC Health Care Center

मेजर कलशी क्लासेस में अध्ययन कर रहे छात्रो के प्रति कोचिंग संस्थान के कर्मचारियों एवं मेडिकल परीक्षण जैसे Hydrocele or Varicoceles के लिए चयनित निरीक्षक की देखरेख में हेल्थ केयर सेंटर में छात्रों का मेडिकल परीक्षण करवाया जाता है। जिसके पश्चात उम्मीदवार पूर्ण रूप से स्वस्थ होकर defence की परीक्षा में आवेदन कर सकते हैं। मेजर कलशी क्लासेस द्वारा संचालित मेडिकल हेल्थ केयर के बारे में अधिक जानकारी के लिए मेजर कलशी क्लासेस के ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर जानकारी प्राप्त की जा सकती है।

Defence की परीक्षा में शामिल होने से पहले उम्मीदवारों को अपने शारीरिक एवं मानसिक स्वास्थ्य के बारे में सावधानी बरतना बेहद जरूरी है। जरा सी भी आपकी लापरवाही आपके सपने और कैरियर को प्रभावित करती है। Defence की परीक्षा में बुद्धिमत्ता और शारीरिक योग्यता के अतिरिक्त मेडिकल टेस्ट भी होते हैं। इसलिए उम्मीदवारों को defence जैसी परीक्षाओं में शामिल होने से पहले अपने स्वास्थ्य पर ध्यान देना बेहद जरूरी है। मेजर कलशी क्लासेस द्वारा संचालित मेजर कलशी हेल्थ केयर सेंटर में उम्मीदवारों के लिए मेडिकल परीक्षण से संबंधित सभी प्रकार की सुविधाएं उपलब्ध कराई जाती हैं।

यदि आप भी defence की परीक्षा के लिए आवेदन करना चाहते हैं, और परीक्षा की तैयारी करना चाहते हैं। तो आज ही इलाहाबाद के सर्वश्रेष्ठ कोचिंग संस्थान मेजर कलशी क्लासेस में नामांकन करवाएं। नामांकन करवाने के लिए मेजर कलशी क्लासेस के ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन आवेदन किया जा सकता है। इसके अतिरिक्त आफ मेजर कलशी क्लासेस के मोबाइल एप्लीकेशन तथा यूट्यूब चैनल पर जाकर रजिस्ट्रेशन से संबंधित जानकारियां प्राप्त कर सकते हैं।

Frequently Asked Questions (FAQs)

1- Is Hydrocele or Varicoceles allowed in Defence Exam?

उत्तर::- डिफेंस की परीक्षाओं में यदि किसी उम्मीदवार को हाइड्रोसील की परेशानी है तो वह मेडिकल एग्जामिनेशन के दौरान बाहर कर दिया जाएगा।

2- हाइड्रोसील होने पर क्या लक्षण प्रदर्शित होते हैं?

उत्तर:- हाइड्रोसील होने पर उम्मीदवार के आंतरिक अंगों में भयानक दर्द उत्पन्न होता है कभी-कभी यह नपुसंकता का भी कारण बन जाता है।

3- उम्मीदवार को हाइड्रोसील के लक्षण कब दिखाई दे जाते हैं?

उत्तर:- जब कोई व्यक्ति हाइड्रोसील से ग्रसित होता है तो उसके आज आमतौर पर 15 से 40 वर्ष के मध्य देखी जाती है। इनके लक्षण भी इसी उम्र में ही प्रदर्शित होते हैं।

4- Hydrocele or Varicoceles का उपचार हो सकता है अथवा नहीं?

उत्तर:- यदि उम्मीदवार हाइड्रोसील से ग्रसित है तो इस बीमारी का उपचार भी संभव है। बेहद आधुनिक तकनीकी और बिना सर्जरी के भी यदि हाइड्रोसिल को ठीक करना हो तो एंबोलाइजेशन नामक प्रक्रिया बेहद कारगर है।

5- डिफेंस मैं होने वाली सभी मेडिकल उपचार कहां से करवाएं?

उत्तर:- यदि कोई उम्मीदवार डिफेंस से जुड़ी किसी भी मेडिकल उपचार के लिए एक बेहतर संस्थान की खोज कर रहा है तो वह मेजर कलशी क्लासेस के हेल्थ केयर सेंटर में अपना नामांकन अवश्य करवाएं।

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •